सोमवार, 5 अप्रैल 2010

इलैक्ट्रानिक स्किन का निर्माण

इलैक्ट्रानिक स्किन का अविष्कार यूनिवर्सिटी ऑफ नेब्रास्का के रवि सराफ ने किया यह वास्तव में कागज़ से भी हजार गुना पतली फिल्म है जिसमे सोने और कैडमियम सैल्फाएद के सूछ्म कणों की परते अवस्थीत हैं विदुत की सुचालक इन परतो के बीच में कुचालक प्लास्टीक स्तर है साइंस पत्रिका में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक जैसे ही फिल्म में विदुत धारा प्रवाहित की जाती है दबाव विन्दुओं पर चालकता badane लगती है जिससे सूछ्म तत्व चमकने लगते हैं दबाव जितना अधिक होगा चमक उतनी ही अधिक होगी सराफ के मुताबिक़ इलैक्ट्रानिक स्किन के चलते रोबट की स्प़शानुभूति में कई गुना इजाफा होगा

3 टिप्‍पणियां: