शुक्रवार, 24 दिसंबर 2010

टच स्क्रीन आप के कलाई पर होगा

वैज्ञानिक युग के क्या संभव हो जाएगा यह कहा नहीं जा सकता है अब टच स्क्रीन के सम्बन्ध में इक क्रांती आ गयी है जो कलाई पर होगा, वैज्ञानिको के अन्तराष्ट्रीय दल ने इस तकनीक का नाम दिया है ' स्कीन पुट' यह उपकरण ब्यक्ति के हाथ में कलाई से कोहनी तक के हिस्से को टच स्क्रीन में बदल देगा चाहे मनपसंद संगीत सुनना हो या काल मिलानी हो , ब्यक्ति को दूसरे हाथ की उंगलियों से इस हिस्से की त्वचा को छूना भर होगा यह उपकरण ध्वनिक सेंसर और मिनी प्रोजेक्टर से चलेगा इसे ब्लू ट्रुथ जैसी वायर लेस सेवा से आसानी से जोड़ा जा सकेगा इसको तकनीक के जरिए मोबाईल , कम्पूटर , आई पाड, से आसानी से जोड़ा जा सकता है

सोमवार, 29 नवंबर 2010

दुनिया का पहला सिंथेटिक पेड़

अमेरिकी वैज्ञानिको ने दुनिया का पहला सिंथेटिक पेड़ बनाया है कर्नेल स्थित एक प्रयोगशाला में इस पेड़ को ट्रांसिपिरेसन से बनाया गया ट्रांसिपिरेसन से ही नमी पेड़ो की उची शाखाओ को पहुचती है पत्रिका नेचर के अनुसार इस खोज से पेड़ पौधे में ट्रांसपिरेसन की उस पुरानी थ्योरी को बल मिलता जिसमे कहा है की यह पूरी तरह भौतिक प्रक्रिया है और इसमे किसी जैविक ऊर्जा की जरूरत नहीं होती इससे कार इमारतों के तापमान के स्थान्तरण और मिट्टी को उपजाऊ बनाने में मदद मिल सकती है इससे आंशिक तौर पर सुखी जमीन से पानी निकालने में मदद मिल सकती है

शनिवार, 20 नवंबर 2010

नयनो वाकर की खोज

अमेरिकी वैज्ञानिको ने पहली बार मनुष्य की भांति चलने वाला अणु डिजाईन किया है जिसे नयनो वाकर नाम दिया गया है नयनो वाकर के माध्यम से बहुत सी सुचनाये छोटे से चिप में एकत्र की जा सकती है वैज्ञानिको के अनुसार सूछ्म अणु के सपाट पर मनुष्य की भांति सीधा चलना अदभुत है इससे पुरे विश्व जहाँ हम रहते है की नक़ल नयनो मीटर से स्केल से उतारी जा सकती है ९, १० डि डि ऐ को जोड़ने वाले तत्व पैरो का काम करते है उष्मा मिलते यह सक्रिय होजाता है और उससे चलने फिरने की उर्जा मिलने लगती है डिडिऐ बिना नयनो रेल या नयनो ग्रुब्स के सपाट सतह पर मनुष्य की तरह चल सकता है नयनो वाकर पहली बार १००००० से अधिक कदम चला जहाँ तक डिडिऐ का प्रश्न है इसे मनुष्य की तरह चलने फिरने के लिए किसी सहारे कीजरूरत नहीं होती

शनिवार, 2 अक्तूबर 2010

बिना चीरे के होगी मस्तिष्क की सर्जरी

मस्तिष्क की सर्जरी के लिए अब डाक्टरों को चीरा लगाने की जरूरत नहीं होगी वैज्ञानिको ने कहा गामा नाइफ नामक उपकरण से विना चीरा लगाये मस्तिष्क की सर्जरी की जा सकती है वैज्ञानिको का दावा है की वे अब बिना चीर फाड़ किये मस्तिष्क कैंसर से पीड़ित मरीजो के मस्तिष्क की नेयुरोलाजिकल सर्जरी कर सकते है सिडनी स्थित मैक्वायर विश्व विद्यालय अस्पताल ने गामा नाइफ का उपयोग कर पहली बार सर्जरी की यह उपकरण मस्तिष्क कैंसर और मस्तिष्क सम्बंधित कई बीमारियों के इलाज के लिए एक महत्वपूर्ण साधन है न्यूरो सर्जन डा जान फ्यूलर ने कहा गामा नाइफ से सर्जरी अपने आप में पहली सरजरी है और बताया की इलाज के दौरान मरीज होश में था इसमे हेलमेट नुमा उपकरण मरीज के सर पर पहना कर कोबाल्ट -६० स्रोतों के विकिरण पुंज को मस्तिष्क के भीतरी लछ्य पर डाला जाता है इसका अविष्कार स्वीडन के लार्स लेक्सेल ने १९६७ में किया था

शनिवार, 7 अगस्त 2010

कपड़ो से पैदा होगी बिजली

जल्द ही बाजारों में नैनो फाइबर से बने पावर सूट उपलब्ध होंगे वैज्ञानिको ने हमारी जीवन सैली में क्रांती ला दी है उन्होंने इंसान की सुख सुबिधा के लिए ऐसे उपकरण इजाद किये है जो सस्ते टिकाओ और आसानी से इस्तमाल किये जा सकते है अब अमेरिकी शोधकरता पावर सूट यानी ऐसा कपड़ा बना रहे है जो सरीर से निकली उर्जा को विजली में बदल देगा ये कपडे फिबर नैनो जनरेटर से बने होंगे कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी में मेकनिकल इंजीनियरिंग विभाग के प्रोफेसर लिविलिन ने कहा की हमने यांत्रीक उर्जा को विदुत उर्जा में बदलने वाले नैनो फायबर विकसीत किये है नैनो फाइबर में पैजोइलेक्ट्रीक का गुण होता है जो उठते बैठते टहलने या घुमने के दौरान शरीर से निकली उर्जा को ग्रहण कर विजली में बदल देगा इससे मोबाईल आईपाड और अन्य छोटे उपकरण कही और कभी भी चार्ज हो जायेंगे ऐसे स्मार्ट क्लोथ पहनने से करंट लगाने का डर नहीं होगा मुख्या शोधकर्ता चेह चंग के मुताबीक लचीले नंगे फाइबर को कपडे की तरह आसानी से बुना जा सकता है

सोमवार, 5 अप्रैल 2010

इलैक्ट्रानिक स्किन का निर्माण

इलैक्ट्रानिक स्किन का अविष्कार यूनिवर्सिटी ऑफ नेब्रास्का के रवि सराफ ने किया यह वास्तव में कागज़ से भी हजार गुना पतली फिल्म है जिसमे सोने और कैडमियम सैल्फाएद के सूछ्म कणों की परते अवस्थीत हैं विदुत की सुचालक इन परतो के बीच में कुचालक प्लास्टीक स्तर है साइंस पत्रिका में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक जैसे ही फिल्म में विदुत धारा प्रवाहित की जाती है दबाव विन्दुओं पर चालकता badane लगती है जिससे सूछ्म तत्व चमकने लगते हैं दबाव जितना अधिक होगा चमक उतनी ही अधिक होगी सराफ के मुताबिक़ इलैक्ट्रानिक स्किन के चलते रोबट की स्प़शानुभूति में कई गुना इजाफा होगा

रविवार, 21 फ़रवरी 2010

न्यूरो चीप बनाने में सफलता

इटली के वैज्ञानिको ने न्यूरो चीप बनाने में सफलता हासिल की है जिससे जीवित मस्तिस्क कोशिकाएं सिलिकन सर्कीट से सम्बन्ध की जा सकेगी इसके अतिरिक्त न्यूरो चीप ऐसे जैविक कम्पूटर के निर्माण का आधार बनेगी जो छमता में वर्तमान कम्पूटर बहुत आगे होंगे इसके अनुसन्धान कर्ताओ ने १६००० से अधिक इलेक्ट्रानिक ट्रांजिस्टरों और कैपिसेटरों को एक वर्ग किलोमीटर की सिलिकन चीप से समाहित करने का कीर्तीमान बनाया इस सर्किट में मस्तिस्क कोशिकाओं को चिपकाने के लिए मस्तिस्क में पाए जाने वाले एक विसेस प्रोटीन का प्रयोग किया गया जो मस्तिस्क कोसिकायों और चीप के इलैक्ट्रानिक हिस्सों के बीच संबाद को भी संभव बनाता है मस्तिस्क कोसिकायों में पैदा होने वाले विदुत संकेतो को चीप में विदमान ट्रांजिस्टर रिकार्ड कर लेते ही कैपिसिटरों का प्रयोग कोशिकाओं को ऊतेजीत करने के लिए किया जाता हैं

शुक्रवार, 19 फ़रवरी 2010